जींद । संयुक्त किसान मोर्चा ओर टिकैत की भावनात्मक अपील का असर जींद के किसानों पर भी हुआ है। जींद के दो दर्जन से अधिक गांव में पंचायतों का दौर जा रही है। जिसमें चंदा एकत्रित कर किसान आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लेने का आह्वान किया जा रहा है। वही गांव चुहरपुर के किसानों ने जींद चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर जाम लगा दिया।

जाम लगाए किसानों का कहना था कि किसान शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे थे लेकिन सरकार के इशारे पर इस आंदोलन को फेल करने के लिए औचछे हथकंडे अपनाए गए। जिसमें किसान और पुलिसकर्मी बेवजह घायल हुए। किसानों ने एकमत से मांग की कि तीनों कृषि कानूनों को तुरंत प्रभाव से रद्द किया जाए।

जब तक यह कानून रद्द नहीं होते तब तक उनका आंदोलन रुकने का नाम नहीं लेगा। किसान नेताओं पर अब अगर किसी ने तानाशाही की तो इसका जवाब किसान देंगे। जाम लगने की सूचना मिलने पर अलेवा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लगभग 1 घंटे की जद्दोजहद के बाद जाम को खुलवाया। वही उचाना के खटकड़ टोल प्लाजा व नरवाना क्षेत्र के बद्दोवाल टोल प्लाजा पर किसान यूनियनों का धरना जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here